मधुर भंडारकर की हत्या की साजिश रचने के आरोप में मॉडल प्रीति जैन और उसके दो अन्य साथिदारो को मुंबई की अदालत ने तीन साल की सजा सुनाई है.

Image result for preeti jain hot pics + madhur bhandarkar

enter site   http://sundekantiner.dk/bioret/576 सुनो http://sat-rent.de/deribbebe/1803 सुनो http://syaden.net/?giniefr=site-rencontre-ado-suisse-romande&6f3=e3 मॉडल here प्रीति click जैन كسب المال عن طريق لعب الألعاب और binäre optionen handeln mit system उसके source site दो http://havanatranquility.com/daeso/5256 अन्य go site साथिदारो partnersuche lindau को मुंबई thuốc lipitor tab 10mg की viagra price cyprus अदालत lady era viagra 6800mg ने मधुर भंडारकर की हत्या की साजिश रचने के आरोप में तीन साल की सजा सुनाई है.

2004 में मधुर भंडारकर पर प्रीती जैन ने बलात्कार का आरोप लगाकर बॉलीवुड इंडस्ट्री मे कोहराम मचा दिया था. प्रीति ने मधुर भंडारकर पर 4 साल में 16 बार शारीरिक संबंध बनाने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था.

बड़ी मुश्किलों के बाद 2006 में यह रिपोर्ट फाइल हुई. लेकिन मधुर भंडारकर को 2007 में आसानी से कोर्ट से क्लीन चिट दे दी गई.

पर प्रीति जैन भी हार मानने वालो मे से नहीं थी. उन्होंने अंधेरी कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, और 2009 में अंधेरी कोर्ट ने मामले पर गौर फरमाते हुए इस रिपोर्ट को गलत ठहराया। कोर्ट ने जांच अधिकारी को फिर से रिपोर्ट फाइल करने के लिए कहा.

प्रीति द्वारा पेश किए गए सबूतों के आधार पर कोर्ट ने मामला सेशन कोर्ट में चलाने का आदेश दिया.. सेशन्स कोर्ट के आदेश के खिलाफ भंडारकर सुप्रीम कोर्ट गए थे. नवंबर 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर के खिलाफ बलात्कार के मामले को चलाने के मुंबई की सेशन्स कोर्ट के आदेश को खारिज कर दिया था.

जब अदालत ने जैन से पूछा कि क्या वह अपनी सफाई में कुछ कहना चाहती हैं तो वह चुप रहीं. उन्होंने बस फैसले पर हैरानी व्यक्त की. जैन के वकील ने महिला होने के आधार पर अदालत से उन्हें कम से कम सजा देने की गुजारिश की.
मुंबई की कोर्ट ने प्रीति जैन और अन्य दो दोषियों को 15,000 रुपये के मुचलके पर जमानत देकर उनकी सजा चार सप्ताह के लिए रद्द कर दी है. इस बीच वह हाई कोर्ट में अपील कर सकती हैं.


बापरे क्या नज़ारा है

बॉलीवुड के हॉट किस्से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *